Category: Updates

0

परिवार की अवधारणा स्पष्ट कीजिए?

परिवार की अवधारणा स्पष्ट कीजिए? व्यक्तित्व किसी व्यक्ति के सभी शारीरिक, मानसिक, सामाजिक, आध्यात्मिक, व्यवहारगत आन्तरिक और बाह्य अभिलाक्षणिक गुणों का एकीकृत प्रतिरूप है । यह विषय प्रधान और विषयी प्रधान (नइरमबजपअम) दोनों ही...

0

शिक्षा तथा समाजशास्त्र में सम्बन्ध

शिक्षा तथा समाजशास्त्र में सम्बन्ध इनमें समुचित जातियों, अनुसूचित जन जातियाँ तथा पिछड़े वर्गों का बहुत बड़ा प्रतिशत है । उन सबकी क्या समूचित शिक्षा व्यवस्था की गई है । भारत में शिक्षा की...

0

सृजनात्मकता की प्रकृति एवं स्वरूप को स्पष्ट कीजिये ?

आकृति स्वतः स्फूर्त विविधता (Figural Sporaneous Flexibility) से तात्पर्य किसी वस्तु या आकृति में सुधार कर पाने के उपायों की विविधता वितीय अवस्था में आकृति अनुकूलन विविधता (Figural adaptive Flexibility) से आशय किसी वस्तु...

0

अधिगम का विभिन्न प्रेरकों पर प्रभाव किस तरह पड़ता है ?

लक्ष्य प्राप्ति की ओर अग्रसर होने पर कार्य में आने वाली बाधाएँ भी तनाव पैदा करती हैं । लेकिन लक्ष्य प्राप्ति में सफल होने पर तनाव से मुक्त हो जाता है – बालक संतोष...

0

बुद्धि की प्रकृति एवं विशेषताएँ बताइए ?

बुद्धि की प्रकृति एवं विशेषताएँ बताइए ? परस्पर व्यवहार करने की क्षमता  2. मूर्त या यांत्रिक बुद्धि (Concrete or Mechanical Intelligence) अथवा वस्तुओं, यंत्रों तथा औजारों के साथ व्यवहार करने की क्षमता । 3....

0

बुद्धि लब्धि के आधार पर व्यक्तियों का वर्गिकरण कीजिये ?

बुद्धि लब्धि के आधार पर व्यक्तियों का वर्गिकरण कीजिये ? बुद्धि लब्धि के आधार पर व्यक्तियों को जड़ बुद्धि से लेकर प्रतिभाशाली की कई श्रेणियों में विभाजित किया है । वर्तमान में बुद्धि वैयक्तिक...

0

मनोवैज्ञानिकों ने व्यक्तित्व को कितने भागों मे वर्गीकृत कर रखा है?

मनोवैज्ञानिकों ने व्यक्तित्व को कितने भागों मे वर्गीकृत कर रखा है? युंग ने इन दोनों प्रकार के व्यक्तित्वों के मिले जुले व्यक्तित्व को संतुलित व्यक्तित्व ‘कहा है व जो अन्र्तमुख व बर्हिमुखी दोनों प्रकार...