Category: Notes

0

जाति के आधार पर शिक्षा के अवसर किस प्रकार प्रदान किए जा सकते है?

जाति के आधार पर शिक्षा के अवसर किस प्रकार प्रदान किए जा सकते है? अतएव समानता के अवसर का भारत के लिए विशेष महत्व बन जाता है । वर्तमान भारतीय समाज में वर्ग प्रणालियां...

0

सामाजिक गत्यात्मकता के कारण

सामाजिक गत्यात्मकता के कारण -Ivor Morrishसामाजिक गत्यात्मकता कई कारणों से हो सकती है यथा – यह भी हो सकता है कि एक भूमि का स्वामी काफी बाद यह पाये कि उसकी भूमिसम्पत्ति की कीमत...

0

शिक्षा तथा समाजशास्त्र में सम्बन्ध

शिक्षा तथा समाजशास्त्र में सम्बन्ध इनमें समुचित जातियों, अनुसूचित जन जातियाँ तथा पिछड़े वर्गों का बहुत बड़ा प्रतिशत है । उन सबकी क्या समूचित शिक्षा व्यवस्था की गई है । भारत में शिक्षा की...

0

शिक्षा के समाजशास्त्र से आप क्या समझते हैं?

शिक्षा के समाजशास्त्र से आप क्या समझते हैं? स्व मूल्यांकन प्रश्नशैक्षिक समाजशास्त्र का क्या अर्थ है? | 3. शिक्षा के समाजशास्त्र की परिभाषा लिखिये?  समाजशास्त्र में व्यक्ति तथा समाज के सम्बन्धों का अध्ययन किया...

0

सृजनात्मकता की प्रकृति एवं स्वरूप को स्पष्ट कीजिये ?

आकृति स्वतः स्फूर्त विविधता (Figural Sporaneous Flexibility) से तात्पर्य किसी वस्तु या आकृति में सुधार कर पाने के उपायों की विविधता वितीय अवस्था में आकृति अनुकूलन विविधता (Figural adaptive Flexibility) से आशय किसी वस्तु...

0

निर्देशन से आप क्या समझते है? इसकी परिभाषा देते हुए निर्देशन एवं परामर्श का अन्तर स्पष्ट कीजिए? 

निर्देशन से आप क्या समझते है? इसकी परिभाषा देते हुए निर्देशन एवं परामर्श का अन्तर स्पष्ट कीजिए?  1. नियोजन कार्यालय । 2. विश्वविद्यालय ।। 3. शिक्षक प्रशिक्षण महाविद्यालय तथा4. कुछ राज्यों में मनोविज्ञान ब्योरों...

0

बालकों का निर्देशन एवं परामर्श के समय किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए ?

बालकों का निर्देशन एवं परामर्श के समय किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए ? 4. जब विद्यार्थी को कोई समस्या हो लेकिन वह इस समस्या से अनभिज्ञ हो और उसके उत्तम विकास के...

0

बुद्धि का स्वरूप क्या है और बुद्धि कैसे कार्य करती है

बुद्धि का स्वरूप क्या है और बुद्धि कैसे कार्य करती है ? बुद्धि के सिद्धान्त ।बुद्धि का स्वरूप क्या है और बुद्धि कैसे कार्य करती है, इस सम्बन्ध में भिन्न-भिन्न मनोवैज्ञानिकों ने अपने प्रयोगों...

0

व्यक्तित्व पर मनोवैज्ञानिक रूप से किन किन बातों का प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से प्रभाव पड़ता है?

व्यक्तित्व पर मनोवैज्ञानिक रूप से किन किन बातों का प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से प्रभाव पड़ता है? जैसे कट्टर, जाति संगठन, आतंकवादी संगठन । समूह के अन्तर्गत मित्र मण्डली एवं संगति का प्रभाव भी...

0

मनोवैज्ञानिकों ने व्यक्तित्व को कितने भागों मे वर्गीकृत कर रखा है?

मनोवैज्ञानिकों ने व्यक्तित्व को कितने भागों मे वर्गीकृत कर रखा है? युंग ने इन दोनों प्रकार के व्यक्तित्वों के मिले जुले व्यक्तित्व को संतुलित व्यक्तित्व ‘कहा है व जो अन्र्तमुख व बर्हिमुखी दोनों प्रकार...